‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’, लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराने की संभावना तलाशने के लिए सरकार ने रामनाथ कोविंद की अध्यक्षता में समिति बनाई

भारत की केंद्र सरकार ने 1 सितंबर 2023 को पूर्व राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द के नेतृत्व में एक समिति की स्थापना की है। समिति का उद्देश्य पूरे देश में एक साथ लोकसभा (संसदीय) और विधानसभा चुनाव कराने की व्यवहार्यता की जांच करना है।

  1. सरकार ने 18 से 22 सितंबर के बीच संसद का विशेष सत्र बुलाने का आह्वान किया है, जिसका एजेंडा अज्ञात रहेगा।
  2. नवंबर-दिसंबर में पांच राज्यों मिजोरम, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और राजस्थान में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसके बाद अगले साल मई-जून में लोकसभा चुनाव होने की उम्मीद है।
  3. हाल की सरकारी कार्रवाइयों ने आम चुनावों और कुछ राज्य चुनावों को आगे बढ़ाने की संभावना बढ़ा दी है, जो मूल रूप से लोकसभा चुनाव के साथ मेल खाने वाले थे।
  4. आंध्र प्रदेश, ओडिशा, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश की विधानसभाओं में वर्तमान में लोकसभा चुनावों के साथ-साथ चुनाव होने हैं।

प्रश्न: भारत में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराने की संभावनाएं तलाशने के लिए केंद्र सरकार द्वारा स्थापित समिति का नेतृत्व कौन कर रहा है?

a) प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी
b)राम नाथ कोविन्द
ग) अमित शाह
d) राहुल गांधी

उत्तर : राम नाथ कोविन्द