ऑटोमेटेड पर्मानेंट एकेडमिक अकाउंट रजिस्ट्री (एपीएएआर): एक राष्ट्र एक छात्र आईडी

ऑटोमेटेड पर्मानेंट एकेडमिक अकाउंट रजिस्ट्री (एपीएएआर), जिसे “वन नेशन वन स्टूडेंट आईडी” के रूप में भी जाना जाता है।

APAAR भारत में छात्रों के लिए एक विशिष्ट पहचान प्रणाली है, जिसे शैक्षणिक और प्रशासनिक प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यहां APAAR के बारे में कुछ मुख्य बिंदु दिए गए हैं:

  1. उद्देश्य और विशेषताएं:
    • डिजिटल आईडी कार्ड: APAAR सरकारी और निजी स्कूलों और कॉलेजों दोनों के छात्रों के लिए एक डिजिटल आईडी कार्ड के रूप में कार्य करता है।
    • शैक्षणिक लॉकर: यह एक डिजिटल लॉकर के रूप में कार्य करता है जहां छात्र अपनी शैक्षणिक उपलब्धियों को संग्रहीत और प्रबंधित कर सकते हैं।
  2. क्रेडिट एकत्रित करना: छात्र अपने शैक्षणिक क्रेडिट, डिग्री और अन्य प्रासंगिक जानकारी ऑनलाइन एकत्र कर सकते हैं।
    • प्रवेश को सुव्यवस्थित करना: APAAR एक केंद्रीकृत छात्र पहचान प्रणाली प्रदान करके प्रवेश प्रक्रिया को भी सुव्यवस्थित करता है।
  3. आजीवन पहचानकर्ता:
    • APAAR केवल एक विशिष्ट शैक्षिक चरण के लिए नहीं है; यह छात्रों के लिए उनकी शैक्षणिक यात्रा के दौरान आजीवन डिजिटल पहचानकर्ता के रूप में कार्य करता है।
  4. अकादमिक बैंक ऑफ क्रेडिट (एबीसी):
    • भारत सरकार ने एपीएआर आईडी कार्ड जारी करने के लिए अकादमिक बैंक ऑफ क्रेडिट्स (एबीसी) की स्थापना की।
    • एबीसी राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी 2020) का एक अभिन्न अंग है।
    • सभी कॉलेज और विश्वविद्यालय जाने वाले छात्रों को एबीसी पर पंजीकरण कराना आवश्यक है।
    • किसी भी कॉलेज या विश्वविद्यालय में प्रवेश के लिए एबीसी आईडी होना आवश्यक है।

MCQs

1.APAAR का मतलब क्या है?

a) ऑटोमेटेड पर्मानेंट एकेडमिक अकाउंट रजिस्ट्री
b) अकादमिक बैंक ऑफ क्रेडिट
c) एक राष्ट्र, एक छात्र आईडी कार्ड
d) डिजिटल इंडिया पहल

उत्तर: a) ऑटोमेटेड पर्मानेंट एकेडमिक अकाउंट रजिस्ट्री

2.एपीएआर का उद्देश्य क्या है?

a) छात्रों की शैक्षणिक प्रगति और उपलब्धियों को ट्रैक करने के लिए
b) सरकारी स्कूलों के लिए डिजिटल आईडी कार्ड जारी करना
c) सुव्यवस्थित प्रवेश की सुविधा के लिए
d) सांस्कृतिक आदान-प्रदान को बढ़ावा देना

उत्तर: a)छात्रों की शैक्षणिक प्रगति और उपलब्धियों को ट्रैक करने के लिए

Scroll to Top