विश्व होम्योपैथी दिवस प्रतिवर्ष 10 अप्रैल को मनाया जाता है

विश्व होम्योपैथी दिवस हर साल 10 अप्रैल को होम्योपैथी के संस्थापक डॉ. सैमुअल हैनिमैन की जयंती के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।

होम्योपैथी का इतिहास: प्राचीन काल में, डॉ. हैनिमैन ने कुनैन के लक्षणों पर प्रयोग करके व्यक्तिगत उपचार की नींव रखी। एक समग्र दृष्टिकोण विकसित किया जो आधुनिक होम्योपैथी की आधारशिला बन गया।

विश्व होम्योपैथी दिवस का महत्व: विश्व होम्योपैथी दिवस जर्मन चिकित्सक और रसायनज्ञ डॉ. सैमुअल हैनीमैन की जयंती पर उनके काम का सम्मान करता है।

विश्व होम्योपैथी दिवस 2024 की थीम: “होम्योपरिवार: एक स्वास्थ्य, एक परिवार।” यह व्यक्तियों और परिवारों दोनों की भलाई पर विचार करते हुए होम्योपैथी के समग्र दृष्टिकोण पर जोर देता है।

प्रश्न: विश्व होम्योपैथी दिवस प्रतिवर्ष कब मनाया जाता है?

a) 1 अप्रैल
b) 10 अप्रैल
c) 5 मई
d) 15 जून

उत्तर: b) 10 अप्रैल

प्रश्न: विश्व होम्योपैथी दिवस किसकी याद में बनाया जाता है?

a) डॉ. अल्बर्ट आइंस्टीन
b) डॉ. सैमुअल हैनीमैन
c) डॉ. लुई पाश्चर
d) डॉ. सिगमंड फ्रायड

उत्तर: b) डॉ. सैमुअल हैनीमैन

Scroll to Top