वायुसेना का सबसे बड़ा अभ्यास, ‘गगन शक्ति’, 1 से 10 अप्रैल 2024 तक जैसलमेर के पोखरण फील्ड फायरिंग रेंज में

भारतीय वायु सेना 1 अप्रैल, 2024 से 10 अप्रैल, 2024 तक जैसलमेर जिले के पोखरण फील्ड फायरिंग रेंज में अपना सबसे बड़ा अभ्यास ‘गगन शक्ति’ आयोजित कर रही है।

  1. अभ्यास के दौरान वायुसेना के प्रमुख लड़ाकू विमान और आधुनिक हेलीकॉप्टर अपनी मारक क्षमता का प्रदर्शन कर रहे हैं।
  2. भारतीय सेना अभ्यास के लिए रसद सहायता प्रदान कर रही है, जिससे पूरे भारत में लगभग 10,000 IAF कर्मियों और गोला-बारूद की आवाजाही में सुविधा होगी।
  3. इस अभ्यास का उद्देश्य भारतीय वायु सेना के ऑपरेशनल रेल मोबिलाइजेशन प्लान पहलुओं को मान्य करना है।
  4. ‘गगन शक्ति’ देशभर में विभिन्न स्थानों पर आयोजित किया जा रहा है, जिसमें जैसलमेर में पोखरण फील्ड फायरिंग रेंज भी शामिल है।
  5. अभ्यास में तेजस, राफेल, सुखोई 30, जगुआर, ग्लोबमास्टर, चिनूक, अपाचे और प्रचंड जैसे लड़ाकू विमान और हेलीकॉप्टर भाग ले रहे हैं।
  6. पिछला ‘गगन शक्ति’ अभ्यास 2018 में आयोजित किया गया था, जिसके दौरान भारतीय वायुसेना ने हवाई युद्धाभ्यास के दो चरणों में 11,000 से अधिक उड़ानें पूरी कीं।

प्रश्नः जैसलमेर जिले के पोखरण फील्ड फायरिंग रेंज में आयोजित भारतीय वायु सेना के सबसे बड़े अभ्यास का क्या नाम है?

a) ऑपरेशन स्काईबोल्ट
b) थंडरबोल्ट अभ्यास
c) गगन शक्ति अभ्यास
d) ऑपरेशन डेजर्ट स्टॉर्म

उत्तर : c)गगन शक्ति अभ्यास

Scroll to Top