राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने भोपाल में भारत के लोक, जनजातीय अभिव्यक्तियों और साहित्य का जश्न मनाने वाले “उत्कर्ष” और “उन्मेष” उत्सवों का उद्घाटन किया

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 3 अगस्त 2023 को भोपाल में दो उत्सवों – “उत्कर्ष,” भारत का लोक और आदिवासी अभिव्यक्ति उत्सव, और “उन्मेश”, एक अंतर्राष्ट्रीय साहित्य उत्सव का उद्घाटन किया।

  1. यह कार्यक्रम मध्य प्रदेश के संस्कृति विभाग द्वारा केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय के संगीत नाटक अकादमी और साहित्य अकादमी के सहयोग से आयोजित किया जाता है।
  2. उत्सव 3 से 5 अगस्त तक होंगे।
  3. उद्घाटन समारोह में राज्यपाल मंगूभाई पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मौजूद रहे.
  4. राष्ट्रपति ने मानवता को प्रतिबिंबित करने और आगे बढ़ाने में साहित्य के महत्व पर जोर दिया। साहित्य समाज को जोड़ने का काम करता है और समाज को आगे ले जाता है।
  5. राष्ट्रपति ने “अमृत काल में उन्मेष” कार्यक्रम पर प्रकाश डाला, जो समकालीन साहित्यिक रचनाओं और पाठकों पर उनके प्रभाव पर केंद्रित है।
  6. “उत्कर्ष” शब्द का अर्थ प्रगति है, और राष्ट्रपति ने इस बात पर जोर दिया कि आदिवासी समुदायों की प्रगति राष्ट्र की समग्र प्रगति में योगदान देगी।
  7. राष्ट्रपति ने सभी से आदिवासी परंपराओं, भाषाओं और संस्कृतियों के संरक्षण की जिम्मेदारी लेने का आह्वान किया।

प्रश्न: भोपाल में भारत के लोक एवं जनजातीय अभिव्यक्ति के राष्ट्रीय महोत्सव “उत्कर्ष” एवं अंतर्राष्ट्रीय साहित्य महोत्सव “उन्मेष” का उद्घाटन किसने किया?

a) राज्यपाल मंगूभाई पटेल
b) मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
c) राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू
d) मध्य प्रदेश का संस्कृति विभाग

उत्तर: c) राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू

Scroll to Top