भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, बॉम्बे में कैंसर के लिए भारत की पहली घरेलू जीन थेरेपी

4 अप्रैल, 2024 को भारत की राष्ट्रपति श्रीमती। द्रौपदी मुर्मू ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) बॉम्बे में कैंसर के लिए भारत की पहली घरेलू जीन थेरेपी लॉन्च करने के लिए मुंबई का दौरा किया।

मुख्य विचार:

  1. थेरेपी: विचाराधीन जीन थेरेपी को NexCAR19 के रूप में जाना जाता है, जो कि काइमेरिक एंटीजन रिसेप्टर टी-सेल (CAR-T) थेरेपी की श्रेणी में आती है। इसे टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल के सहयोग से आईआईटी बॉम्बे में स्थापित कंपनी इम्यूनोएसीटी द्वारा विकसित किया गया था। सीएआर-टी थेरेपी एक अत्याधुनिक दृष्टिकोण है जो कैंसर कोशिकाओं को लक्षित करने के लिए रोगी की अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली का उपयोग करता है।
  2. लक्षित उपचार: NexCAR19 विशेष रूप से बी-सेल कैंसर के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिसमें ल्यूकेमिया और लिम्फोमा जैसी स्थितियां शामिल हैं। रोगी की टी-कोशिकाओं को आनुवंशिक रूप से संशोधित करके, यह थेरेपी कैंसर कोशिकाओं को पहचानने और नष्ट करने की उनकी क्षमता को बढ़ाती है।
  3. स्वदेशी नवाचार: यह तथ्य कि यह थेरेपी घरेलू है, भारत के लिए बेहद गर्व की बात है। यह अपनी सीमाओं के भीतर उन्नत चिकित्सा समाधान विकसित करने की देश की क्षमता का प्रतीक है।
  4. आईआईटी बॉम्बे की भूमिका: आईआईटी बॉम्बे के बायोसाइंस और बायोइंजीनियरिंग (बीएसबीई) विभाग ने नेक्ससीएआर19 के लिए सीएआर-टी कोशिकाओं के डिजाइन और निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। यह अंतःविषय प्रयास वैज्ञानिक अनुसंधान और नैदानिक ​​​​अनुप्रयोग के बीच तालमेल को प्रदर्शित करता है।
  5. मरीजों के लिए आशा: NexCAR19 के साथ, मरीजों के पास अब एक नए उपचार विकल्प तक पहुंच है जो बेहतर परिणामों और जीवन की बेहतर गुणवत्ता का वादा करता है।

प्रश्न: कैंसर के लिए भारत की पहली घरेलू जीन थेरेपी का क्या नाम है?

a) नेक्सकार19
b) इम्यूनोएक्ट
c) टाटा मेमोरियल अस्पताल
d) आईआईटी बॉम्बे

उत्तर: a) नेक्सकार19

प्रश्न: सीएआर-टी थेरेपी का क्या मतलब है?

a) सेलुलर एंटीजन रिसेप्टर उपचार
b) काइमेरिक एंटीजन रिसेप्टर टी-सेल थेरेपी
c) कैंसर एंटीजन रिस्पांस तकनीक
d) सेलुलर एंटीबॉडी पहचान थेरेपी

उत्तर: b) काइमेरिक एंटीजन रिसेप्टर टी-सेल थेरेपी

Scroll to Top