फसल के त्योहार – मकर संक्रांति, पोंगल, उत्तरायण और माघ बिहू देश के विभिन्न हिस्सों में मनाए जाते हैं

फसल के त्योहार – मकर संक्रांति, पोंगल, उत्तरायण और माघ बिहू 15 जुलाई 2024 को देश के विभिन्न हिस्सों में मनाए गए। ये त्योहार सर्दियों के अंत और लंबे दिनों की शुरुआत का प्रतीक हैं। ये त्यौहार सांस्कृतिक विविधता के साथ मनाए जाते हैं, जिनमें देश भर में पतंग उड़ाने, अलाव और आनंददायक दावतें जैसी परंपराएँ शामिल हैं।

तमिलनाडु में, थाई पोंगल, जैसा कि इसे कहा जाता है, तमिल महीने थाई की शुरुआत है, जिसे दुनिया भर में रहने वाले तमिलों द्वारा मनाया जाता है। यह ऋतु तीन दिनों तक मनाई जाती है। आज लोग सुबह सूर्य को अपनी फसल अर्पित करते हैं।

प्रश्न: मकर संक्रांति, पोंगल, उत्तरायण और माघ बिहू त्योहारों का क्या महत्व है?

A) ग्रीष्म ऋतु का अंत
B) मानसून की शुरुआत
C) सर्दी की समाप्ति और लंबे दिनों की शुरुआत
D) वसंत का उत्सव

उत्तर: C) सर्दियों की समाप्ति और लंबे दिनों की शुरुआत

Scroll to Top