चौधरी चरण सिंह, पीवी नरसिम्हा राव और एमएस स्वामीनाथन को भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा

पूर्व प्रधान मंत्री चौधरी चरण सिंह, पूर्व प्रधान मंत्री पी वी नरसिम्हा राव और कृषि वैज्ञानिक डॉ. एमएस स्वामीनाथन को देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 फरवरी 2024 को घोषणा की।

  1. चौधरी चरण सिंह:
    • भूमिका: भारत के पूर्व प्रधान मंत्री, स्वतंत्रता सेनानी और किसान नेता।
    • योगदान:
      • भारत के तीसरे उप प्रधान मंत्री और पांचवें प्रधान मंत्री के रूप में कार्य किया।
      • उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और केंद्रीय गृह और वित्त मंत्री जैसे पदों पर रहे।
    • परंपरा:
      • इस पुरस्कार के माध्यम से देश के लिए उनके अतुलनीय योगदान को स्वीकार किया जाता है।
  2. पामुलपर्थी वेंकट नरसिम्हा राव (पीवी नरसिम्हा राव):
    • भूमिका: भारत के नौवें प्रधान मंत्री (1991-1996)।
    • उपलब्धियाँ:
      • आर्थिक सुधार: उनके कार्यकाल के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था को खोलने का श्रेय दिया जाता है।
      • ऐतिहासिक प्रथम: दक्षिण भारत से भारत के प्रधान मंत्री बनने वाले पहले व्यक्ति।
      • आर्थिक सुधारों के जनक: पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह को भारत में आर्थिक सुधारों का सच्चा जनक बताया गया।
  3. डॉ. एमएस स्वामीनाथन:
    • भूमिका: प्रख्यात कृषि वैज्ञानिक और भारत की हरित क्रांति के जनक।
    • योगदान:
      • नॉर्मन बोरलॉग के साथ सहयोग किया और किसानों और अन्य वैज्ञानिकों के साथ एक जन आंदोलन का नेतृत्व किया।
      • सार्वजनिक नीतियों के समर्थन से, उन्होंने 1960 के दशक में भारत और पाकिस्तान को कुछ अकाल जैसी स्थितियों से बचाया।
      • कृषि में आत्मनिर्भरता प्राप्त करने और कृषि पद्धतियों को आधुनिक बनाने में सहायक।

प्रश्न: कौन से भारतीय प्रधान मंत्री, उप प्रधान मंत्री, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और केंद्रीय गृह मामलों और वित्त मंत्री के रूप में भी कार्य कर चुके हैं?

a) पी वी नरसिम्हा राव
b) डॉ. एमएस स्वामीनाथन
c) चौधरी चरण सिंह
d) नरेंद्र मोदी

उत्तर: c) चौधरी चरण सिंह

प्रश्न: किस प्रधान मंत्री को अपने कार्यकाल के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था को खोलने का श्रेय दिया जाता है?

a) चौधरी चरण सिंह
b) पी वी नरसिम्हा राव
c) डॉ. एमएस स्वामीनाथन
d) नरेंद्र मोदी

उत्तर: b) पी वी नरसिम्हा राव

प्रश्न: “भारत की हरित क्रांति का जनक” किसे कहा जाता है?

a) चौधरी चरण सिंह
b) पी वी नरसिम्हा राव
c) डॉ. एमएस स्वामीनाथन
d) नॉर्मन बोरलॉग

उत्तर: c) डॉ. एमएस स्वामीनाथन

Scroll to Top